Search

aidya rishi ka arshkalp review #piles इस्तमाल करने का सही तरीका


Vaidrishi Arshkalp की जानकारी

Vaidrishi Arshkalp बिना डॉक्टर के पर्चे द्वारा मिलने वाली आयुर्वेदिक दवा है, जो मुख्यतः बवासीर के इलाज के लिए उपयोग किया जाता है। इसके अलावा Vaidrishi Arshkalp का उपयोग कुछ दूसरी समस्याओं के लिए भी किया जा सकता है। इनके बारे में नीचे विस्तार से जानकारी दी गयी है। Vaidrishi Arshkalp के मुख्य घटक हैं चित्रक, दारुहल्दी, नीम, कुटकी जिनकी प्रकृति और गुणों के बारे में नीचे बताया गया है। Vaidrishi Arshkalp की उचित खुराक मरीज की उम्र, लिंग और उसके स्वास्थ्य संबंधी पिछली समस्याओं पर निर्भर करती है। यह जानकारी विस्तार से खुराक वाले भाग में दी गई है।


Vaidrishi Arshkalp की सामग्री - Vaidrishi Arshkalp Active Ingredients in Hindi

चित्रक

  • ऐसी दवाएं जो दर्द को नियंत्रित करने और बेहोशी (सुधबुध खोने) रोकने के लिए इस्‍तेमाल की जाती है।

  • त्वचा पर लगाने वाली एक दवा जिससे रक्त का प्रवाह अच्छा होता है और त्वचा की लाली बढ़ती है।

दारुहल्दी

  • सूक्ष्म जीवों को बढ़ने से रोकने वाले या खत्म करने वाले एजेंट।

नीम

  • एजेंट या तत्‍व जो सूजन को कम करने के लिए इस्तेमाल किए जाते हैं।

कुटकी

  • श्‍लेष्‍मा झिल्‍ली (म्‍यूकस मेंब्रेन) के ऊपर एक सुरक्षात्मक परत बनाते हुए सूजन को कम करने वाले तत्व।


Vaidrishi Arshkalp के लाभ - Vaidrishi Arshkalp Benefits in Hindi

Vaidrishi Arshkalp इन बिमारियों के इलाज में काम आती है -

मुख्य लाभ


  • बवासीर (और पढ़ें - Ayurvedic medicine, treatment and remedies for Piles)


अन्य लाभ


  • अल्सर

Vaidrishi Arshkalp की खुराक - Vaidrishi Arshkalp Dosage in Hindi

यह अधिकतर मामलों में दी जाने वाली Vaidrishi Arshkalp की खुराक है। कृपया याद रखें कि हर रोगी और उनका मामला अलग हो सकता है। इसलिए रोग, दवाई देने के तरीके, रोगी की आयु, रोगी का चिकित्सा इतिहास और अन्य कारकों के आधार पर Vaidrishi Arshkalp की खुराक अलग हो सकती है।

आयु वर्गखुराक व्यस्क

  • मात्रा: निर्धारित खुराक का उपयोग करें

  • खाने के बाद या पहले: खाने से पहले

  • अधिकतम मात्रा: 2 कैप्सूल

  • लेने का तरीका: दूध

  • दवा का प्रकार: कैप्सूल

  • दवा लेने का माध्यम: मुँह

  • आवृत्ति (दवा कितनी बार लेनी है): दिन में एक बार

  • दवा लेने की अवधि: 3 दिन

बुजुर्ग

  • मात्रा: निर्धारित खुराक का उपयोग करें

  • खाने के बाद या पहले: खाने से पहले

  • अधिकतम मात्रा: 2 कैप्सूल

  • लेने का तरीका: दूध

  • दवा का प्रकार: कैप्सूल

  • दवा लेने का माध्यम: मुँह

  • आवृत्ति (दवा कितनी बार लेनी है): दिन में एक बार

  • दवा लेने की अवधि: 3 दिन


Vaidrishi Arshkalp के नुकसान, दुष्प्रभाव और साइड इफेक्ट्स - Vaidrishi Arshkalp Side Effects in Hindi

चिकित्सा साहित्य में Vaidrishi Arshkalp के दुष्प्रभावों के बारे में कोई सूचना नहीं मिली है। हालांकि, Vaidrishi Arshkalp का इस्तेमाल करने से पहले हमेशा अपने डॉक्टर से सलाह-मशविरा जरूर करें।


Vaidrishi Arshkalp से सम्बंधित चेतावनी - Vaidrishi Arshkalp Related Warnings in Hindi


  • क्या Vaidrishi Arshkalp का उपयोग गर्भवती महिला के लिए ठीक है? Vaidrishi Arshkalp का गर्भवती महिलाओं पर कोई दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है। सुरक्षित

  • क्या Vaidrishi Arshkalp का उपयोग स्तनपान करने वाली महिलाओं के लिए ठीक है? स्तनपान कराने वाली महिलाएं Vaidrishi Arshkalp का सेवन कर सकती है। सुरक्षित

  • Vaidrishi Arshkalp का पेट पर क्या असर होता है? पेट के लिए Vaidrishi Arshkalp हानिकारक नहीं है। सुरक्षित

  • क्या Vaidrishi Arshkalp का उपयोग बच्चों के लिए ठीक है? Vaidrishi Arshkalp बच्चों के लिए सुरक्षित है इस बारे में कोई शोध न होने की वजह से ये कहना मुश्किल है कि Vaidrishi Arshkalp बच्चों के लिए सुरक्षित है या नहीं। अज्ञात

  • क्या Vaidrishi Arshkalp का उपयोग शराब का सेवन करने वालों के लिए सही है Vaidrishi Arshkalp के बुरे प्रभावों के बारे में जानकारी मौजूद नहीं है। क्योंकि इस विषय पर अभी रिसर्च नहीं हो पाई है। अतः डॉक्टर के परामर्श के बाद ही इस दवा को लें। अज्ञात

  • क्या Vaidrishi Arshkalp शरीर को सुस्त तो नहीं कर देती है? Vaidrishi Arshkalp लेने के बाद आपको नींद नहीं आएगी। इसलिए आप गाड़ी चलाने या दूसरे कामों को आसानी से कर सकते हैं। नहीं

  • क्या Vaidrishi Arshkalp का उपयोग करने से आदत तो नहीं लग जाती है? नहीं, Vaidrishi Arshkalp को लेने के बाद आपको इसकी आदत नहीं पड़ती है। नहीं



14 views0 comments

Recent Posts

See All

इन घरेलू नुस्खों से बढ़ा सकते हैं अपने लिंग की लंबाई और मोटाई लिंग की मोटाई और लंबाई बढ़ाने के अचूक घरेलू नुस्खे वैसे तो यौन क्रिया में लिंग की लंबाई और मोटाई का कोई खास प्रभाव नहीं पड़ता लेकिन फिर भी

जिन महिलाओ में ये लक्षण नजर आते हैं, उन्‍हें प्रेगनेंट होने में आती है दिक्‍कत गर्भधारण करके मातृत्व का सुख पाना हर महिला का सपना होता है, लेकिन खराब लाइफस्टाइल और गलत खानपान की आदत से महिलाओं के शरीर

रात का अंधेरा शीघ्र पतन (प्रीमैच्यौर इजेक्युलेशन) भारतीय पुरुषों की आम शिकायतों में है, यह कहना है ओआरजी आइएमएस का जिसने छह महानगरों के 971 पुरुषों, 176 महिलाओं पर 2010 में सर्वेक्षण किया है. 40% शादी

WhatsApp Image 2022-01-22 at 12.49.54 AM.jpeg