स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवा

WhatsApp Image 2022-01-21 at 2.40.31 AM.jpeg

बिजी शेड्यूल और सही खान-पान न होने से शरीर को कई सारी समस्याएं घेर लेती हैं. यंगस्टर्स में स्वप्नदोष की समस्या सबसे ज्यादा होती है. जिससे उन्हें कमजोरी होने लगती है. ऐसे में हम बता रहे हैं वो 15 नुस्खे जिन्हें अपनाने से नाइटफॉल कभी नहीं होगा...

टिप्‍स


1. बादाम- 1-2 बादाम की गिरी, थोड़ा-सा मक्खन और 3-3 ग्राम गिलोय को बराबर मात्रा लेकर पीस लें. इसमें 7-8 ग्राम शहद डालकर बढ़िया से मिला लें. इस मिश्रण को एक हफ्ते तक सुबह-शाम खाने से नाइटफॉल में कमी आती है.
2. आंवला- स्वप्नदोष के रोग को दूर करने के लिए 6 ग्राम आंवले के चूर्ण में समान मात्रा में शहद मिला लें. इसे 8-10 दिन तक खाएं और ऊपर से मिश्री चबा लें. (कहीं गलत तरीके से तो नहीं कर रहे दाल अंकुरित?)
3. इलायची- आधा ग्राम छोटी इलायची पा पाउडर, 3 ग्राम सूखे धनिये का पाउडर और 2 ग्राम मिश्री को पीस लें. इस चूर्ण को बराबर मात्रा में बांटकर पुड़िया बना लें. रोजाना सुबह ताजे पानी के साथ इसे खाएं. स्वप्नदोष से छुटकारा मिल जाएगा.
4. गुलाब के फूल- ताजे गुलाब के फूल की 7-8 पंखुड़ियों को 3 ग्राम मिश्री के साथ चबाकर खा लें. इसके ऊपर 1 गिलास गाय का दूध पी लें. इस नुस्खे का रोजाना सेवन करने से स्वप्नदोष का रोग समाप्त हो जाता है. (सिरदर्द दूर करने का बेस्ट उपाय है लौंग )
5. अजवाइन- अजवाइन की पत्तियां स्वप्नदोष की समस्या के लिए एक बेहतरीन दवा है. इसकी पत्तियों का जूस निकालकर उसे शहद के साथ खा लें. अजवाइन का रस इस तरह से लेने से बहुत जल्दी लाभ होता है.
6. भिंडी- नपुंसकता दूर करने के लिए पुरुषों को कच्ची भिंडी चबाकर खानी चाहिए. स्वप्नदोष की समस्या में भिंडी एक बेहतरीन दवा का काम करती है.
7. कच्चा प्याज- कच्चे प्याज का सेवन स्वप्नदोष की समस्या में बहुत अच्छा माना गया है. खाने में किसी भी रूप में प्याज का सेवन किया जाए तो इस समस्या में लाभ पहुंचता है. साथ ही, अगर इसे कच्चा खाया जाए तो बेहतर परिणाम मिलते हैं.
8. शहद और त्रिफला- शहद में त्रिफला का चूर्ण मिलाकर खाने से स्वप्नदोष जैसे रोग खत्म हो जाते हैं, लेकिन जिन लोगों का स्वभाव अधिक गर्म रहता हो उन लोगों को शहद की जगह पर मिश्री का इस्तेमाल करना चाहिए. अगर इसके अलावा चीनी मिला हुआ रस दे दिया जाए तो अधिक लाभ प्राप्त होगा. (ये चीजें खाएंगे तो पार्टनर के आगे कभी शर्मिंदा नहीं होंगे )
9. केला- पके केले में 3-4 बूंदें शहद डालकर सुबह सूर्योदय से पहले खाने से स्वप्नदोष के साथ अनेक वीर्य संबंधी रोग समाप्त हो जाते हैं और वीर्य भी अधिक मात्रा में गाढ़ा बन जाता है. इस मिश्रण का इस्तेमाल विस्तारपूर्वक करना चाहिए.
10. गाय का दूध- आधा किलो गाय के दूध में 3 छुहारे लेकर उसमें जरूरत के अनुसार मिश्री मिलाकर इसे अच्छी तरह से पका लें, जब दूध केवल आधा रह जाए तो छुहारे की गुठली निकालकर छुहारे को खा लें और दूध को पी लें. स्वप्नदोष से मुक्ति पाने का यह अचूक नुस्खा है.

11. इमली- दूध में इमली के बीजों को भिगोकर इमली की निकाली हुई गिरियों में बराबर मात्रा में मिश्री मिलाकर अच्छी तरह से कूट-पीसकर मटर के दाने की तरह गोलियां बनाकर अपने पास रख लें. इसके बाद समान मात्रा में 1-1 गोली कुछ दिनों तक प्रयोग करते रहने से स्वप्नदोष जैसी समस्या समाप्त हो जाती है.
12. त्रिफला- हरड़, बहेड़ा, आंवला और जौ को रात में भिगोकर रख लें. इसके बाद अगले दिन सुबह इसमें थोड़ा-सा शहद मिलाकर पी लें. इससे स्वप्नदोष के रोग दूर हो जाते हैं. (खाने में ऐसे करें जीरे का इस्तेमाल, कम होगा वजन )
13. लहसुन- एक कली लहसुन रात को सोते समय चबाते हुए ताजा पानी के साथ निगल जाएं. इसके तुरंत बाद कुछ भी नहीं खाना चाहिए. कुछ दिनों में ही स्वप्नदोष की समस्या समाप्त हो जाएगी.
14. धनिया और मिश्री- धनिया और मिश्री को बराबर मात्रा पीस लें. इस चूर्ण को 5 ग्राम की मात्रा में लेकर ताजा ठंडे पानी के साथ एक सप्ताह तक रोजाना लें. स्वप्नदोष में लाभ होगा.
15. नीम के पत्ते- हर रोज 2 पत्ते नीम के चबा-चबाकर खाने से कभी स्वप्न दोष नहीं होगा.
नोट-
- ये कुछ ऐसे नुस्खे हैं जो घर में मौजूद मसालों से तैयार किए जाते हैं. बाकि और भी कई चीजें जिन्हें खाने से स्वप्नदोष की समस्या से निजात मिलती है. लेकिन वो जड़ी-बूटी हैं जो आसानी से मार्केट में नहीं मिलेंगी.

स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवा | Swapandosh Ki Ayurvedic Dawa in Hindi

स्पप्नदोष एवं धातुरोग
इस हिंदी पोस्ट में हम आपको बता रहे हैं नाईट फॉल (Nightfall) और धातु रोग (Dhatu rog) को दूर करने के कुछ छोटे और आसान से घरेलू नुस्खों (Home Remedy) के बारे में।
बचपन की गलतियों (Masturbation) और बुरी संगत के कारण हम जाने अनजाने अपने वीर्य को बर्बाद कर लेते हैं। जिसके कारण हमें आगे चलकर कई सेक्सुअल प्रॉब्लम्स (Sexual Problems) का सामना करना पड़ता है। जिनमें नाईट फॉल और धातु रोग भी शामिल हैं। गलत खान-पान की आदत, वीर्य का पतलापन धातु रोग को जन्म देता है। जिस कारण धीरे-धीरे नाईट फॉल की समस्या भी होने लगती है यानी नींद में ही कोई कामुक दृश्य देखकर वीर्य निकल जाने की समस्या। धातु रोग में बिना इच्छा और उत्तेजना के लिंग से जरा-जरा करके वीर्य पतले पानी के रूप में टपकता रहता है।

तो चलिए नाईट फॉल और धातु रोग के लिए जानते हैं कुछ घरेलू नुस्खों के बारे में..

नाईट फॉल और धातु रोग का उपचार
केला एवं दूध


रात को सोने से लगभग आधा घंटा पहले दो केले खा लें और ऊपर से ठंडा दूध पी लें। या फिर बनाना शेक बनाकर भी आप पी सकते हैं। नाईट फॉल को रोकने का लाजवाब नुस्खा है। इससे वीर्य भी गाढ़ा होता है और धातु रोग में भी आराम मिलता है। पूरा लाभ पाने के लिए 10 से 15 दिन यह नुस्खा करें।

काली तुलसी
काली तुलसी की 15-20 कोमल पत्तियाँ रात को सोने से पहले पानी के साथ खा लें। स्वप्नदोष यानी नाईट फॉल नहीं होगा।

अनार का छिलका
अनार के छिलके भी बहुत फायदा पहुंचा सकते हैं आपको स्वप्नदोष की समस्या में। इसके लिए आप अनार के छिलकों को सुखाने के बाद पीसकर इनका चूर्ण बना ले। इस चूर्ण को एक बड़े चम्मच की मात्रा में रोजाना रात को सोने से पहले पानी के साथ लें। 5-7 दिनों में ही नाईट फॉल की समस्या पूरी तरह समाप्त हो जायेगी।

Shukra King — दमदार आयुर्वेदिक दवा
इन तीन नुस्खों को आप करें, इन्हीं से आपको बहुत लाभ मिल जायेगा। बाकी हमारी जानकारी में एक बहुत ही बढ़िया और दमदार आयुर्वेदिक दवा है, जिससे आपकी नाईट फॉल और धातु रोग की समस्या पूरी तरह खत्म हो जायेगी। यह दवा है- Shukra King (शुक्र किंग)।

शुद्ध जड़ी-बूटियों के इस्तेमाल से बनी हुई नेचुरल हर्बल दवा (Natural Herbal Medicine) है।
जिसमें कोई भी स्ट्रॉयड (Steroids) या केमिकल (Chemical) का यूज (Use) नहीं किया गया है।
बिना किसी साइड इफेक्ट के यह दवा रोग को पूरी तरह ठीक करती है।
बहुत ही कमाल की दवा है, आपके माइन्ड पर कंट्रोल करती है, ताकि आप जल्दी उत्तेजित न हों और नाईट फॉल होने से आप बच सकें।
वीर्य को गाढ़ा करती है, जिससे धातु रोग में भी आराम आता है।
इसके अलावा ब्लड सर्कुलेश के लेवल को सही करती है, आपके अंदर चुस्ती-फुर्ती बनाये रखती है और पूरे दिन एनर्जी से भरे रहते हैं।
बुर्जग भी इस दवा का सेवन कर सकते हैं, क्योंकि यह दवा उनकी उम्र और स्वास्थ्य को देखकर भी बनाई गई है।

स्वप्नदोष का आयुर्वेद में क्या इलाज हैं?

स्वप्नदोष

सोते समय स्वप्न में यौन क्रीड़ा संबंधी दृश्य देखने पर जननेन्द्रिय में उत्तेजना आती है और शुक्राशय में एकत्रित हुआ शुक्र निकल जाता है, इसे स्वप्नदोष (नाईट फॉल) होना कहते हैं। स्वप्नदोष में वीर्य की अनावश्यक रूप से बहुत क्षति होती है।

स्वप्नदोष के नुकसान

  • इससे घुटनों में दर्द, चक्कर और अनिंद्रा की प्रॉब्लम होने लगती है।

  • स्वप्नदोष से शुक्राणुओं की संख्या कम होने लगती है।

  • चिंता और तनाव की समस्या बढ़ने लगती है।

  • रोजमर्रा के कार्यों में जल्दी थकावट महसूस होने लगती है।

स्वप्नदोष के आसान घरेलू उपाय

#1 घरेलू उपाय

स्वप्नदोष रोकने के लिए ऐसी चीज़े खानी चाहिए, जो शरीर को ठंडा रखने में मदद करे।

#2 घरेलू उपाय

स्वप्नदोष से बचने के लिए मन और तन दोनों साफ़ रखे।

#3 घरेलू उपाय

गुप्त अंग के आस पास वाले बालों को ज्यादा बढ़ने ना दे।

#4 घरेलू उपाय

सोने से पहले घुटनों तक अपने पैर ठंडे पानी से धोएं।

#5 घरेलू उपाय

उल्टा पेट के बल सोने की बजाय सीधे सोये। इसके अलावा सुबह जल्दी उठे और योग, प्राणायाम करे।

#6 घरेलू उपाय

रात को सोते समय ढीले और हल्के कपड़े पहने।

पुरुषों में स्वप्नदोष का आयुर्वेदिक इलाज

स्वप्नदोष की समस्या के लिए एन एफ क्योर कैप्सूल सबसे प्रसिद्ध हर्बल और आयुर्वेदिक उपचार है, जो पुरुषों में प्राकृतिक तरीके से वीर्य के रिसाव को रोकने में मदद करता है

एन एफ क्योर कैप्सूल पूरी तरह से आयुर्वेदिक जड़ी-बूटियों से बना उत्पाद है, जिसकी सहायता से रात को होने वाले उत्सर्जन से निजात पाया जा सकता है।

एन एफ क्योर कैप्सूल का कोई दुष्परिणाम नही है। आप इसे बिना किसी समस्या के लंबे समय तक उपयोग में ले सकते हैं।

एन एफ क्योर कैप्सूल के लाभ

  1. नाईट फॉल (स्वप्नदोष), धातु (धात) रोग, हस्तमैथुन के दुष्परिणाम व कमजोरी में लाभकारी।

  2. चरमोत्कर्ष और वीर्य की मात्रा की अवधि बढ़ा देता है।

  3. शक्तिशाली निर्माण और तीव्र उत्तेजना को बढ़ावा देता है।

  4. ऊर्जा व ताकत में सुधार लाता है और नर-संभोग की अवधि बढ़ाता है ।

एन एफ क्योर कैप्सूल की जड़ी-बूटियां

जायफल, शतावरी, अतिमुकयक, लौह भस्म, लौंग, पुरुषरतन, हरीतकी, द्रीद्रंगा, पीपल, अश्वगंधा, कवच बीज, केसर, स्वर्ण भंग, शुद्ध शिलाजीत, कंकज, भेदानी, कशरीरिका, ब्रह्मदंदी और सफ़ेद मूसली

इस्तेमाल मे लेने के निर्देश

एन एफ क्योर कैप्सूल को आप प्रतिदिन 1 से 2 बार दूध और पानी के साथ ले सकते हैं। इस आयुर्वेदिक कैप्सूल को आप 3 से 4 महीने उपयोग में ले सकते हैं।

स्वप्नदोष का होना जवानी के दिनों में लाजिमी है।

लगभग 20 साल की उम्र से ऊपर युवाओं को इस दौरान होने वाली एक सामान्य घटना है, लेकिन यह उत्सर्जन यौवन के बाद किसी भी समय रात को हो सकता है। स्वप्नदोष होने से कभी-कभी तन-मन हल्कापन और राहत अनुभव करता है।

चरक सहिंता, भेषजयरत्नावली, माधव निदान ग्रन्थों के मुताबिक पित्त की वृद्धि, पाचनतंत्र की लगातार खराबी और लिवर की गड़बड़ी एवं गर्मीले खाद-पदार्थ खाने से भी किसी-किसी को स्वप्नदोष की शिकायत शुरू हो सकती है।

यदि नाईट फैल ज्यादा या बार - बार होता है, तो वीर्य की हानि होती है और व्यक्ति को शारीरिक कमजोरी का अहसास होता है। क्योंकि यह वीर्य भी रक्त कणों से पैदा होता है। अतः अधिक मात्रा में शुक्र क्षय होना व्यक्ति को कमजोर कर देता हैं।

क्यों होता है नाईट फैल—

कुछ आयुर्वेदाचार्य, चिकित्सक मानते हैं कि-

सोते समय स्वप्न में यौन क्रीड़ा संबंधी दृश्य देखने पर जननेन्द्रिय में उत्तेजना आती है और शुक्राशय में एकत्रित हुआ शुक्र निकल जाता है, इसे स्वप्नदोष (नाईट फॉल) होना कहते हैं। स्वप्नदोष में वीर्य की अनावश्यक रूप से बहुत क्षति होती है।

[1]

युवाओं के लिए विकराल बीमारी - स्वप्नदोष

जो कम उम्र में ही नपुंसक बना देती है।

आज की युवा पीढ़ी में स्‍वप्‍नदोष एक बहुत खतरनाक आम समस्या है। यह परेशानी नई हर उम्र के युवा पुरुषों में देखने को मिल रही है। वैसे तो शादी के बाद यह समस्या स्वयं समाप्त हो जाती है, लेकिन अगर ऐसा न हो तो यह एक खतरनाक बीमारी है। इस वजह से बाद में संतान उत्पत्ति में व्यवधान होता है।

अगर नियमित रूप से इस समस्‍या का सामना करना पड़ रहा है, तो आपको तत्काल सचेत होने की जरूरत है। इससे शरीर तो खराब होता ही है, साथ ही मानसिक रूप से भी दबाव काफी बढ़ जाता है। कभी-कभी स्वप्नदोष के कारण आत्मबल बहुत कमजोर भी हो सकता है।

स्वप्नदोष की देशी दवा-

बी फेराल गोल्ड माल्ट & कैप्सूल

यह मुरब्बे और मेवा से निर्मित एक देशी दवा है।

इसमें स्वप्नदोष को दूर करने वाली रस-भस्मों

जैसे सफेद मूसली, कोंच पाक, शिलाजीत,

अश्वगंधा, शतावर आदि 35 से अधिक ओषधियों को

मिलाया गया है। 2-2 चम्मच इसे तीन महीने तक

1 कैप्सूल के साथ सुबह-शाम दूध के साथ लेने पर अनेक पुरूषार्थ संबंधित बीमारियां दूर करने में सक्षम है।

स्वप्नदोष के साइड इफ़ेक्ट-

कई पुरुषों को इस बात को लेकर संशय रहता है कि आखिर वे स्‍वप्‍नदोष की इस बीमारी से कैसे बचाव करें। स्‍वप्‍नदोष से थकान, अंडकोष में दर्द, कमजोर स्‍खलन और शीघ्रपतन जैसी समस्‍यायें हो सकती हैं।

स्वप्नदोष के नुकसान

  • ~ किसी काम में मन नहीं लगता। इससे घुटनों में दर्द, चक्कर और अनिंद्रा की प्रॉब्लम होने लगती है।

  • ~ स्वप्नदोष से शुक्राणुओं की संख्या कम होने लगती है। जिससे सुंदरता कम होने लगती है।

  • ~ चिंता और तनाव की समस्या बढ़ने लगती है। देह में कम्पन्न होता है।

  • ~ रोजमर्रा के कार्यों में जल्दी थकावट महसूस होने लगती है। घुटनो का लुब्रिकेंट सूखने लगता है।

  • महीने में दो बार नाइटफाल होना कोई परेशानी की बात नहीं है। लेकिन अगर बार बार ऐसा होने लगे तो आपको स्वप्नदोष रोकने के उपाय करने चाहिए। बार बार वीर्य स्खलित होने से शरीर पर विपरीत असर पड़ता है। साथ में मानसिक दबाव भी बढ़ जाता है।

  • स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवा

स्वप्नदोष के आसान घरेलू उपाय—

#1- घरेलू उपाय- स्वप्नदोष रोकने के लिए ऐसी चीज़े खानी चाहिए, जो शरीर को ठंडा रखने में मदद करे।

#2- घरेलू उपाय- स्वप्नदोष से बचने के लिए मन और तन दोनों साफ़ रखे। कब्ज न होने देंवें।

#3- घरेलू उपाय- गुप्तांगों के आस पास वाले बालों को ज्यादा बढ़ने ना दे। रात को जब खुजली होती है, तो नाईट फेल हो जाता है।

#4- घरेलू उपाय- सोने से पहले घुटनों तक अपने पैर ठंडे पानी से धोएं। रात को सोते समय ढीले और हल्के कपड़े पहने।

#5- घरेलू उपाय- उल्टा पेट के बल सोने की बजाय सीधे सोये। इसके अलावा सुबह जल्दी उठे और योग, प्राणायाम करे।

शुद्ध गूगल स्वप्नदोष दूर करने वाली सर्वश्रेष्ठ ओषधि है। शुद्ध गुग्गल अमाशय उत्तेजक, दीपनः (भूख वृद्धि कारक) असाध्य वातहर, वात नाड़ी संस्थान के लिए पुष्टि कारक होता है ।

स्वप्नदोष के कारण होने वाली अनेक सेक्स समस्याओं का अंत करने में उपयोगी है। काम (Sex) से पीड़ित या सेक्स की कमजोरी में बेहद कारगर है।

Amritam B. Feral Gold Malt

में शुद्ध गुग्गल के मिश्रण से निर्मित किया है।

गुग्गल के सेवन से आमाशय क्रियाशील हो जाता है । सेक्स इन्द्रियों पर तुरन्त असर करने के कारण बी.फेराल माल्ट में मिलाया गया है। यह गुप्तरोगों के जीवाणुओं का नाश कर देता है, जिससे सेक्स सम्बन्धी रोग रिपीट नहीं होते।

ये 40 के बाद -शरीर को खाद देता है। कमजोर क्षति ग्रस्त नाड़ी-तंतुओं को मजबूती देकर इतनी शक्ति प्रदान करता है कि गर्वीली रमणियों (स्त्रियों) को मदहोश कर देता है। इसे तीन माह तक लेने से बेहतरीन परिणाम मिलते हैं

महिलाओं के मान-मर्दन के लिये यह एक सक्षम हथियार है- B.feral Gold malt & Capsule में डाला गया सिद्ध मकरध्वज व शुद्ध गुग्गल का जरूरत से ज्यादा जोश एवम मर्दांगनी प्रदान करना इसका विलक्षण गुण है ।

बी. फेराल माल्ट तथा बी.फेराल कैप्सूल-

काम की कामना से अतृप्त अधेड़ पुरुषों

व युवाओं की पुरुषार्थ संबंधी समस्याओं

जैसे- शीघ्रपतन, स्वप्नदोष, पेशाब के साथ

वीर्य निकल जाना, ज्यादा समय तक न ठहर पाना, जल्दी डिस्चार्ज हो जाना, ढीलापन रहना, लिंग छोटा होना, सहवास (संभोग) के प्रति अरुचि, महीनों सेक्स की इच्छा न होना, ठंडापन, कामेच्छा में कमी, सेक्स का मन होना लेकिन कुछ कर न पाना, वीर्य का पतलापन या कम निकलना, तन-मन की थकावट, चिड़चिड़ापन, भय-भ्रम होना, संदेह-शंका होना, तथा शुक्रजन्य आदि कमजोरी दूर कर रक्त (,खून) blood भूख, एवम बल्य-वीर्य बुद्धि की वृद्धि में सहायक है ।

B Feral Gold Malt & Capsule -

खोई हुई शक्ति वापस लाकर उत्तेजना से भर देता है । शुद्ध गुग्गल के समावेश के कारण इसका कोई हानिकारक दुष्प्रभाव नहीं हैं। इसे नियमित 3 महीने तक नियमित लेना चाहिए। क्योंकि यह शुद्ध आयुर्वेदिक दवा है। शरीर के सभी गुप्तरोग जड़ से मिटाने में सहायक है। अंदरूनी सिस्टम ठीक करके पूरे शरीर को भयंकर क्रियाशील बना देता है ।

यह केवल पुरुषों हेतु हितकारी यह प्रोडक्ट ऑनलाइन उपलब्ध है।

ये एक ऐसी समस्या हैं जो अपने आप में बहुत बड़ी समस्या हैं जिसका आसानी से हल सम्भव नही होता और इसका मरीज जगह जगह अपने धन और समय तथा वीर्य शक्ति की बर्बादी करता घूमता रहता हैं और अति कमजोरी निश्तेजिता को प्राप्त कर मन को दुखी करता संसार से विरक्ति महसूस करता घूमता हैं इस रोग के नाश के लिए हम ने अपने अनुभव से जो A.Medical Aid निकली हैं उसका एक अच्छा असर होता हैं जो थोड़ा धैर्य व खर्चा चाहती है अगर आप इससे वाकई छुटकारा चाहते हैं तो इस पर हम से चर्चा करें अपने बुजर्गो को बताये अपनी जवानी की रक्षा के लिए, धात का गिरना या जाना अथवा स्वप्नदोष एक महा भयंकर व्याधि हैं जिसमें शरीर वीर्य का उत्पादन तो अपनी नियमित प्रतिक्रिया के अनुसार करता हैं मगर जहां इसको इकठ्ठा होना चाहिये भविष्य के लिए वह नही कर पाता हैं और कमजोरी व निष्तेजिता को प्राप्त करता हैं इसके लिए सम्पर्क करें 8057362472 वाट्सएप पर ही सम्पर्क करें जो कुछ पूछना कहना चाहे उसके लिए सिर्फ उपरोक्त वाट्सएप 8057362472 ही उपयोग करे

आजकल बहुत से युवकों में स्वप्नदोष की समस्या आम बात हो गई है। आइए जानते है कि इसके पीछे के क्या कारण है और इसके क्या उपाय हो सकते है❓

सबसे पहले बात करते है स्वपन्नदोश होने के कारण:

1. संभोग की उम्र होने के बाद भी संभोग ना कर पाना।

2. हस्थमैथुन की उम्र में होने के बाद भी हस्थमैथुन ना करना।

3. या फिर हद से ज्यादा हस्थमैथुन करना।

ये तीन ही कारण है स्वप्नदोष होने के, आइए जानते है कैसे।।

पहले बात करते है सबसे पहले कारण कि संभोग करने की उम्र में भी संभोग ना कर पाना। मतलब की ऐसे कई युवक है जो किशोरावस्था से जवानी में कदम रख चुके है और शादी शुदा नहीं है। लेकिन वो संभोग करने की पूरी उम्र में है। उनके लिंग पूरी तरह से विकसित हो चुके है और जिस वजह से उनके मन में कामुक विचार आते रहते है। और उनका वीर्य उनके अंडकोष में दिन प्रतिदिन जमा होकर एक दिन स्वप्नदोष के जरिए निकाल जाता है। जो कि सही मायने में सही भी है। इस कारण से घबराने कि जरुरत नहीं है। ये प्राकृतिक है। इस से कोई भी नुकसान नहीं होगा आपके शरीर को। तो घबराने कि बिल्कुल भी जरुरत नहीं है।

दूसरा कारण भी कुछ ऐसा ही है, कई युवक हस्थमैथुन नहीं करते बिल्कुल भी और वो जवानी कि उम्र में है। जिस कारण वीर्य इक्कठा होके रात में अचानक से निकाल जाता है। ये भी पूरी तरह से प्राकृतिक है। इस से भी कोई नुकसान या समस्या नहीं होगी आपके शरीर में। मतलब इस वजह से भी घबराने कि कोई जरूरत नहीं है।

तीसरा कारण- इनमें से एक यही एक कारण है जो कि नुकसानदायक है। जिसके इलाज के लिए जितना जल्दी से जल्दी हो सके सोचना जरूरी बन जाता है।

और वो है हद से ज्यादा हस्थमैथुन करना। जी हां हद से ज्यादा हस्थमैथुन करने से वीर्य पतला होने लगता है। जो कि स्वप्नदोष की वजह बनता है। जिस कारण कई युवकों के बूंद बूंद पानी सा टपकता रहता है। टॉयलेट जाते हुए भी उनका वीर्य निकाल जाता है। और रात में सोते हुए भी। जो अपने आप में एक बहुत बड़ी समस्या है। आगे जाकर ये एक बड़ी परेशानी बन जाता है। इसका इलाज जितना जल्द से जल्द हो सके करवाना चाहिए। और सबसे पहले हस्थमैथुन को कम कर देना चाहिए।

इसका इलाज आयुर्वेदिक दवाओं द्वारा किया जा सकता है। जो कि स्थाई इलाज होता है। इलाज के लिए आप हमसे भी दवाई ल सकते है।

आयुर्वेदिक दवाइयां जो शुद्ध प्राकृतिक औषोधियों द्वारा बनाई जाती है।

जिस से आपका वीर्य गाढ़ा होने लगेगा और धीरे धीरे करके ये समस्या पूरी तरह से खत्म हो जाती है।

धन्यवाद।

WhatsApp Image 2022-01-21 at 2.59.30 AM.jpeg

स्वप्नदोष रोकने के उपाय क्या हैं?

स्‍वप्‍नदोष से बचने के कुदरती उपाय:

  • रोजाना आंवले का मुरब्बा खायें और उसके ऊपर से गाजर का रस पिएं।

  • तुलसी की जड़ के टुकड़े को पीसकर पानी के साथ पियें। इससे लाभ होगा।

  • अगर जड़ नहीं मिले तो बीज 2 चम्मच शाम के समय लें।

  • काली तुलसी के पत्ते 10-12 रात में जल के साथ लें।

  • लहसुन की दो कली कुचल कर निगल जाएं। थोड़ी देर बाद गाजर का रस पिएं।

  • मुलहठी का चूर्ण आधा चम्मच और आक की छाल का चूर्ण एक चम्मच दूध के साथ लें।

  • रात को एक लीटर पानी में त्रिफला चूर्ण भिगा दें सुबह मथकर महीन कपड़े से छानकर पीने से भी लाभ होता है।

  • अदरक रस 2 चम्मच, प्याज रस 3 चम्मच, शहद 2 चम्मच, गाय का घी 2 चम्मच, सबको मिलाकर सेवन करने से स्वप्नदोष तो ठीक होगा ही साथ मर्दाना ताकत भी बढ़ती है।

  • स्वप्नदोष की आयुर्वेदिक दवा